Categories
Economy food Health & beauty Love, romance & relationship News and information Uncategorized weddings Women centric

If you are planning for Lockdown wedding here’s what you must know- Tips and suggestions

The tradition of inviting thousands of guests and spending lacs and lacs of money for the big fat wedding season is over.

We all have witnessed since centuries of trying hard to pamper the barati and yet finding it difficult to stand up to their expectations is no more a problem now.

Just wearing for posing. Mask is not a photo prop one must understand that.

As mass gatherings are not allowed, the father of the bride need not worry as he can organize the ceremony now in his budget.

Where we will save money:

  • As we can invite a limited number of guests hence people are no more booking marriage venues for marriages.
  • The old tradition of weddings on the terrace, roof-tops, verandah, lawns have returned.
  • The cost per plates and dining has reduced.
  • The cost of accommodating the guests attending the marriage has also been reduced to 1/5 ratio.
  • No need for lavish arrangements and decorating the venue for show off.

Opportunities:

  • As lockdown threw spanner for grand weddings, now you can enjoy a reasonably simple and intimate wedding.
  • People like me, who don’t like a crowded place or swaggering would enjoy spending the time with their closed one’s and cherish the lifetime moments with them.
  • Uninvited guests will not appear as it did in 3 idiots.
  • Earlier to invite the barati’s, people used to stand with flowers, pagris and welcome drinks.
  • Now you can find, the attendants are standing with sanitizers, mask and gloves.
  • Throwing flowers on the gifts that brides and grooms family members come with have been replaced with spraying sanitizers.
  • Event planners have come up with the innovative idea of a new form of marriage and involving the closest ones to be a part of the D-Day.
  • As you can see, there are multi-screen video calls, like Zoom or webinar where you can simply join and watch the entire event and shower your blessings and love.
  • Wedding planners have come up with a new form of packages also in a very budgeted price.
  • The cost starts at 1 lac-4 lac for a reasonable package.

The make-up artist is taking precautions by wearing a PPE kit. I can feel how discomforting it is.

You get a new accessory to wear.

In spite of wearing masks, wearing a protective shield is a better idea where you can display your make-up as well.

Categories
Entertainment Fictional stories Health & beauty Hindi news Love, romance & relationship Uncategorized Women centric

शत्रुतापूर्ण परिवार में एक दुल्हन

मेहर सुबह जल्दी उठी, सुबह कुछ ऐसा ही हुआ जो कुछ महीने पहले हुआ करता था।  वह अब एक नए परिवार का हिस्सा है।  उसे नई ज़िम्मेदारियाँ और नए लोग मिले हैं, वह प्रतिकूल परिस्थितियों में आपनी जगह ढूंढ रही है।

romieducation.com

राजकुमारी कि कहानी जिसकी मृत्यु एक रहस्य हैं

भारत में लड़कियों को हमेशा आंका और दोषी ठहराया जाता है।  “मुझे इस तरह की लड़की पसंद नहीं है, वह लड़की गलत है”।  “मेरे बेटों को फसाया”, “उसने मेरे भाई को बदल दिया”.

एक दिन घर में मेहर ने अपने कुछ ऑफिस में काम करने वाले और दोस्तो को बुलाया था। अचानक से उसकी ननद आयी और सबके सामने मेहर को भला बुरा बोलने लगी। मेहर की एक दोस्त ने आगे बढ़कर समझाने की कोशिश की तो बात और बढ़ गई।

इस बीच मेहर का पति घर आया और उसने सबकुछ अपनी आंखो से देखा। मेहर के पति आशीष ने अपनी बहन को रोकने की कोशश की तो बहन ने इल्ज़ाम लगा दिया कि भाई एक पराई लड़की का साथ दे रहा है और दूसरो के सामने अपने परिवार वाले को जलील कर रहा है।

बात इतनी बढ़ गई कि घर के दूसरे लोगो को रोकना पड़ा।

सभा बैठी सास की और सास ने अपनी बेटी को बिना सुने ही बेकसूर बता दिया।

मेहर पर इल्ज़ाम लगाते हुए बोली कि तुमको बर्दास्त कर लेना चाहिए।

कुछ दिन बाद , तलाकशुदा मौसी मिलने घर आई वत सावित्री व्रत के उपलक्ष में आते ही पहले एक व्यंग्यात्मक लहजे में टिप्पणी की अपनी बहन से “मैंने सुना है कि आपकी बहू जहाँ भी जाती है, सिंदूर लगाती है”।


उस चाची को जवाब देने का मन किया मेहर का “आप दो चुटकी सिंदूर की कीमत के बारे में क्या जानते हैं, बहुत प्यार बस्ता है इसमें।”
और जो मेहर को जज करने में व्यस्त था, उसने उसे एक दर्पण देने के बारे में सोचा। यह सभी चाची और रिश्तेदारों द्वारा आरोप लगाने के लिए बहुत आसान है जो एक दुल्हन को जज करने के लिए हैं।  सबसे दुखद बात यह है कि यह स्वीकार करना कि लड़की अब उनके परिवार का हिस्सा है।  महिलाएं एक लड़की का स्वागत करने के बजाय एक-दूसरे से नफरत करती हैं, वे सिर्फ मानसिक रूप से परेशान करने और उसका जिना दूभर करने की योजना बनाते हैं।

क्या आपको लगता है कि मेहर को बर्दास्त कर लेना चाहिए जैसे उसकी सास ने बोला या फिर आवाज़ उठानी चाहिए।

आपकी राय मेहर को सही दिशा दिखाएगी।